Online Chhattisgarh

OnlineIndia   2017-11-29

अजब है यहां की प्रथा, मरने पर देते है पार्टी, मनाते हैं खुशियां

OnlineIndia डेस्क। किसी रिश्तेदार के मरने पर अगर आपसे कोई कहे कि पार्टी दो तो शायद आप उसे पागल समझेंगे। और जवाब होगा बिल्कुल नहीं… किसी के जाने के बाद कोई खुशी कैसे मना सकता है और भारत में तो खासकर ऐसा कभी हो ही नहीं सकता। लेकिन ये दुनिया बहुत बड़ी है और यहां बहुत कुछ ऐसा भी होता है जिससे आप अंजान है। आज हम आपको ऐसे ही रिवाजों के बारे में बताएंगे जिसे जान कर आप हैरान हो जाएंगे।

दरअसल इंडोनेशिया में एक ऐसा समुदाय है जहां लोग अपनों की मौत पर जश्न मनाते हैं। इस समुदाय को टोराजा के नाम से जाना जाता हैकहा जाता है कि इस समुदाय के लोग अपनों से बेहद प्यार करते हैं इतना कि उनकी मौत के बाद भी उन्हें खुद से अलग नहीं कर पाते। इसलिए इस समुदाय के लोग मरे हुए इंसान के साथ जिंदा व्यक्ति की तरह ही व्यवहार करते हैं। आपको जानकर ताज्जुब होगा कि यहां किसी के मरने पर मातम नहीं बल्कि जश्न मनाया जाता है। क्योंकि हर तीन साल बाद यहां मुर्दे घर लौटकर आते हैं। इस समुदाय के लोग मरे हुए इंसान के साथ जिंदा व्यक्ति की तरह ही व्यवहार करते हैं। उसे जिंदा इंसान मानकर खाना भी खिलाते हैंसजाते संवारते हैं और उसके साथ फोटो भी लेते है।

इंडोनेशिया के साउथ सुलावेसी क्षेत्र के तोरजा गांव की प्रथा काफी विचित्र है। इन लोगों का मानना है कि इंसान कभी मरता नहीं है। इसीलिए ये लोग किसी के मरने पर गम नहीं बल्कि खुशियां मानते हैं। इस गांव के लोग किसी केमिकल के माध्यम से इन लाशों को सुरक्षित रखते हैं। ये सुन कर अजीब लग रहा होगा लेकिन ये परंपरा टोराजा समुदाय के लोगों की जिंदगी का हिस्सा है। जिसे वो लोग बड़े प्यार से सदियों से निभाते आ रहे हैं। 

You Might Also Like