वहीं शहजाद पूनावाला के इस बयान के बाद उनके भाई और कांग्रेस के ही नेता तहसीन पूनावाला ने ट्वीट कर शहजाद के इस बयान से खुद को अलग कर लिया और कहा कि अब उनका शहजाद से कोई लेना-देना नहीं है। शहजाद के इस ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए तहसीन ने भी ट्वीट किया है जिसमें उन्होंने लिखा है, 'मैं यह जानकर आश्चर्य में हूं कि शहजाद ने यह सब तब किया जब कांग्रेस गुजरात में चुनाव जीतने जा रही है। मैं उनसे राजनीतिक रूप से सारे संबंध खत्म करने की घोषणा करता हूं। तहसीन ने कहा कि कांग्रेस, राहुल गांधी को ही अपना अगला अध्यक्ष बनाना चाहती है।'

'>

वहीं शहजाद पूनावाला के इस बयान के बाद उनके भाई और कांग्रेस के ही नेता तहसीन पूनावाला ने ट्वीट कर शहजाद के इस बयान से खुद को अलग कर लिया और कहा कि अब उनका शहजाद से कोई लेना-देना नहीं है। शहजाद के इस ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए तहसीन ने भी ट्वीट किया है जिसमें उन्होंने लिखा है, 'मैं यह जानकर आश्चर्य में हूं कि शहजाद ने यह सब तब किया जब कांग्रेस गुजरात में चुनाव जीतने जा रही है। मैं उनसे राजनीतिक रूप से सारे संबंध खत्म करने की घोषणा करता हूं। तहसीन ने कहा कि कांग्रेस, राहुल गांधी को ही अपना अगला अध्यक्ष बनाना चाहती है।'

'>

Online Chhattisgarh

Pooja Sharma   2017-11-30

कांग्रेस अध्यक्ष के लिए राहुल का चुनाव नहीं, चयन है: शहजाद पूनावाला

OnlineIndia ब्यूरो। एक तरफ तो कांग्रेस में राहुल गांधी को पार्टी की पूरी कमान सौंपने की तैयारियां जोरों पर है, वहीं दूसरी तरफ इसे लेकर एक बार फिर से विवाद शुरू हो गया है। कांग्रेस के एक युवा नेता ने बगावत करते हुए पार्टी के अंदर वंशवाद का मुद्दा फिर से उठाया है। हम बात कर रहे हैं महाराष्ट्र कांग्रेस के सचिव शहजाद पूनावाला की जिनकी पहचान हमेशा से ही टीवी चैनलों पर पार्टी का बचाव करने वाले नेता के रूप में रही है। गुजरात विधानसभा चुनावों के बीच बुधवार को सोमनाथ मंदिर में दर्शन के दौरान एंट्री रजिस्टर में राहुल गांधी का नाम गैर-हिंदू के रूप में दर्ज होने पर सियासी घमासान थमा ही नहीं है कि शहजाद पूनावाला के ट्वीट ने और बवाल मचा दिया है।

आपको बता दें कि राहुल के अध्यक्ष के रूप में चुने जाने से पहले पूनावाला ने एक ट्वीट कर लिखा है कि यह चुनाव नहीं बल्कि चयन है। शहजाद ने अपने ट्वीट में पूरी प्रक्रिया को राहुल गांधी के पक्ष में बताते हुए आरोप लगाया है कि वे गांधी परिवार के हैं इसलिए अध्यक्ष बनेंगे। पूनावाला ने अपने ट्वीट में लिखा है 'मैं ऐसा मुद्दा उठा रहा हूं जो मुझे भरोसा है पार्टी में कोई और उठाने की ताकत नहीं रखता, मेरी समझ मुझे वंशवाद पर और चुप रहने नहीं दे रही।' पूनावाला ने कांग्रेस में अध्यक्ष की चयन प्रक्रिया पर सवाल उठाया और कहा कि अगर निष्पक्ष चुनाव हुआ तो वह अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ेंगे। पूनावाला का ये बयान ऐसे वक्त में आया है जब कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में राहुल की ताजपोशी की तैयारियां जोरों पर हैं। पूनावाला ने कहा है कि मेरा एजेंडा पार्टी को एक्सपोज करना नहीं है बल्कि सुधार करना है।

वहीं शहजाद पूनावाला के इस बयान के बाद उनके भाई और कांग्रेस के ही नेता तहसीन पूनावाला ने ट्वीट कर शहजाद के इस बयान से खुद को अलग कर लिया और कहा कि अब उनका शहजाद से कोई लेना-देना नहीं है। शहजाद के इस ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए तहसीन ने भी ट्वीट किया है जिसमें उन्होंने लिखा है, 'मैं यह जानकर आश्चर्य में हूं कि शहजाद ने यह सब तब किया जब कांग्रेस गुजरात में चुनाव जीतने जा रही है। मैं उनसे राजनीतिक रूप से सारे संबंध खत्म करने की घोषणा करता हूं। तहसीन ने कहा कि कांग्रेस, राहुल गांधी को ही अपना अगला अध्यक्ष बनाना चाहती है।'

You Might Also Like